साइपन सिरप 9 कमाल के उपयोग,साइड इफ़ेक्ट | Cypon syrup Uses in hindi

Cypon syrup Uses in hindi – वर्तमान समय मे गलत खान पान के कारण हमे पेट से जुडी समस्या जैसे – भुख ना लगना, फैटी लीवर, पेट मे कब्ज का सामना करना पडता है

जिसके ईलाज मे साइपन सीरप का प्रयोग किया जाता है साइपन एक भुख वर्धक सीरप है जो हमारी भुख बढाने मे मदद करता है इसके अलावा इसका कार्य एलर्जी का खत्म करने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने, वजन बढाने मे सहायक होता है।

Cypon syrup Uses in hindi
Cypon syrup Uses in hindi

यह दवा हमारे पेट को स्वस्थ रखने में मदद करती है और आज इस आर्टिकल में हम साइपन सिरप 8 कमाल के उपयोग,साइड इफ़ेक्ट, लाभ Cypon syrup Uses in hindi  के बारे में जानेंगे

साइपन सिरप के बारे मे जानकारी

नामसाइपन सिरप
कम्पनीजीनो फार्माेटिकल
मौजुद तत्व1. सायप्रोहेप्टाईन 2एम0जी0/5मी0ली0
2.ट्राईकोलिन साइट्रेट 275एम0जी0/5मी0ली0
3. सोब्रिटोल 2एम0जी0/5मी0ली0
लेने का तरीकामुख से
वजन200 ML
रुपये100 RUPEES

साइपन सिरप का मौजुदा तत्व मिश्रण

Cypon syrup समान रूप से एक दवा है जो कि तरल रूप में इस्तेमाल की जाती है इसका प्रयोग पेट के संबंधित समस्याओं के लिए किया जाता है Cypon syrup समानता तीन दवाइयों से मिलकर बना है सिपरोहेप्टएडिन 2mg/5ml , ट्राईकोलाइन 275mg/5ml, और सोरबिटोल 2mg/5ml, आईए जानते है इनके बारे में

1.सिपरोहेप्टएडिन – यह एक एण्टीहिसटामाइन हेै जाकि प्रमुख रुप से शरीर मे एलर्जी के ईलाज के लिए किया जाता है इसका प्रमुख कार्य एलर्जी को खत्म करने, भुख को बढाने और वजन बढाने मे सहायक होता है इसका इस्तेमाल माईग्रेन के दर्द और उल्टी मे भी किया जाता है।

2.ट्राईकोलिन साइट्रेट – यह एक बाईल ऐसिड बाईडिग ऐजेन्ट है जिसका प्रमुख कार्य शरीर मे मौजुद कैलस्ट्रोल के लेवल को कम करने मे मदद करता है और हदय रोग से भी बचाता है यह हमारे रक्त पहुचाने वाली नलियो मे खुन के धक्के नही बनने देता है जिस कारण हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है।

3.सोबिटोल – यह एक मीठी एल्कोहल जिसे ग्लूकसटोल के नाम से भी जाना जाता है इसका प्राय प्रयोग दवाओ मे मिठास देने, बजन बढानेख् प्रजनन, कब्ज के ईलाज मे किया जाता है।

साइपन सिरप के उपयोग | Cypon syrup Uses in hindi

Cypon syrup Uses in hindi – का प्रयोग कई सारी बीमारियों में किया जाता है और यह दवा डॉक्टर द्वारा निर्मित परिस्थितियों में होने के कारण मरीजों को दी जाती है

भुख को बढाने मे- गलत खानपान और अधिक फास्ट फूड के सेवन न करें हमारे शरीर में भूख की कमी हो जाती जिससे हमारा शरीर कमजोर हो जाता है और इस अवस्था में डॉक्टर यह सिर्फ देते हैं इसमे मौजुद सिपरोहेप्टएडिन जोकि हमारे शरीर मे भुख कम करने वाले कैमिकल हाईपोथैलेमस के स्त्राव को कम कर देता है जिसके कारण हमारी भुख ज्यादा लगती है।

अपच – हमारे शरीर में कभी-कभी मेटाबॉलिज्म धीरे होने के फैटी लीवर या अल्सर की समस्या होने परफटीकारण हमारे खान-पान में काफी समस्या का सामना करना पड़ता है जिससे हमारा खाना आसानी से नहीं पचता है इस अवस्था में डॉक्टर हमको यह सिरप देते हैं इसमें मौजूद ट्राई साइकिल इन हमारे मेटाबॉलिज्म को तेज करता है और खाना पचाने में भी सहायक है

फैटी लीवर का अल्सर की समस्या होने पर – ज्यादा tala और बासी खाना खाने पर हमको फैटी लीवर पेट में अल्सर की समस्या हो जाती है जिस कारण हमक पेट दर्द कमजोरी जैसी समस्या होती है

इस अवस्था में cypon syrup का प्रयोग किया जाता है इसमें मौजूद दवा जो कि sarbitol होती है वह हमारे लीवर की हेल्थ के लिए बहुत अच्छी होती है और वह हमारे लिवर के हेल्थ को ठीक करती है

एलर्जी को खत्म करने मे – साईपन सिरप का प्रयोग एलर्जी के कारण होने वाले विकार जैसे जुखाम, भुखार, आदि के ईलाज मे किया जाता है,इसमे एटीहिस्टामाईन तत्व होते है।

इम्युनिटी सिस्टम मजबुत करने मे – साइपन सिरप का प्रयोग हमारे ईम्युनिटी सिस्टम को दरुस्त करने मे काफी सहायक होता है इसमे मौजुद विटामिन सी जोकि हमारे शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता को बढता है और लम्बे समय तक हमें स्वस्थ्य और नीरोगी रहने मे मदद करता है ।

पोषक तत्वो की कमी को दुर करने मे – साइपन सिरप का प्रयोग हमारे शरीर मे हुई पोषक तत्वो की कमी को दुर करने मे सहायक होता है इसमे विभिन्न मात्रा मे विटामिन सी, फाईबर और अन्य जरुरी तत्व होते है जोकि हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते है।

हार्ट अटैक के खतरे को कम करने मे – साइपन सिरप का प्रयोग हमारे शरीर मे हार्ट अटैक के खतरे को कम करने मे सहायक होता है इसमे ट्राइकोलिन साइट्रेट जोकि हमारे शरीर मे कस्ट्रोल लेवल को कम करने मे सहायक होता है, और यह हमारे हदय के नसो मे खुन के प्रवाह को रुकने नही देता है जिसे हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है।


माईग्रेन के सरदर्द को ठीक करने मे – साईपन सिरप को इस्तंमाल माइग्रेन से होने वाले सरदर्द को ठीक करने मे सहायक होता है साईपन मे साईप्रोहेप्टाडिन नाम का एक एण्टीहिसाटामाइन होता है जोकि हमारे शरीर से एलर्जी को खत्म करने मे सहायक है।

कब्ज के ईलाज मे – साइपन का प्रयोग कब्ज के ईलाज मे होता है इसमे ग्लूसिटोल ना का एन्जाईम पाया जाता है जोकि एक मीठा एल्कोहल के रुप मे भी जाना जाता है जोकि कब्ज के ईलाज के लिए काफी फायदेमंद है।

साइपन सिरप को इस्तेमाल करन का तरीका

साइपन सिरप का इस्तेमाल सम्मानित सभी उम्र के लोगों द्वारा डाक्टरो द्वारा बताये गये दिशा निर्देश मे इस्तेमाल किया जाना सही होता है। किया जाता है अगर डोज की बात करें तो बड़ों के लिए इस दवा का प्रयोग 10उस दिन में दो बार सुबह और शाम खाली पेट या फिर खाना देने से पहले किया जाना फायदेमंद होता है . इस दवा का प्रयोग हमेशा डाक्टरी सलाह से करें

लेकिन अगर बच्चों की बात करें इसके डाक्टरो के दिशा निर्देश मे डोज 5 एम0 एल0 उस सुबह शाम दिन में दो बार देना खाना खाने से पहले सही रहेगा लेकिन याद रखें कि 5 साल से छोटे के छोटे बच्चों के लिए यह दवा नहीं है तो 5 साल से छोटे बच्चों को यह दवा देने से हमेशा बचे

वजन बढाने के लिए साइपन सिरप का इस्तेमाल | Cypon syrup for weight gain in hindi

Cypon syrup Uses in hindi – का प्रयोग वैसे तो वजन बढ़ाने के लिए नहीं किया जाता है लेकिन आपको बता दें कि से मौजूद सिपरोहेप्टएडिन आपकी भूख को बढ़ाता है और इसके अलावा इसमें ट्रीचिलाइन भी मौजूद होता जो कि आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म तेज करता है

जिससे आपको बहुत ज्यादा लगेगी और आप खाना बहुत जल्दी पहुंचेगा इस कारण से आपके वजन बढ़ने के काफी ज्यादा चांसेस हो जाते हैं लेकिन ध्यान रहे इसका प्रयोग हमेशा डॉक्टरी सलाह से ही करें

fudic Cream uses in hindi

बच्चो मे साइपन सिरप का इस्तेमाल | Cypon syrup for baby in hindi

Cypon syrup Uses in hindi – का प्रयोग समानता बच्चों पर भी किया जाता है जहां पर अगर बच्चे को भूख नहीं लग रही है एलर्जी, लीवर की कोई समस्या है तो उसी इस्थति में इस दवा का प्रयोग किया जाता है,

शरीर में भूख को बढ़ाता है और लीवर की समस्या को भी दूर करता है लेकिन ध्यान रहे कि यह सिर्फ 5 साल से छोटे बच्चों के लिए नहीं है इसलिए 5 साल से छोटे बच्चों को ऐसे syrup देने से बचे

साइपन सिरप के साईड इफेक्ट

cypon syrup के वैसे तो कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है यह दवा पूर्णता सुरक्षित है लेकिन कभी गलत विधि से लेने और ओवरडोज से कारण निम्नलखित परेशानियों का सामना मरीज को करना पड़ता है जिसने यह दवा गलत तरीके से ली है

बार-बार पेशाब आना – दवाई का लंबे समय तक इस्तेमाल करने से हमारा मेटाबॉलिज्म काफी तेज हो जाता है जिससे कहना हमारा खाना बहुत जल्दी पचता है और यूरिन बहुत जल्दी बनता है जिस कारण हमें बार-बार टॉयलेट करने की समस्या हो सकती है

उल्टी जैसा होना – कभी-कभी दवा के ओवरडोज से कारण इसको लेने के बाद उल्टी जैसा महसूस होता है और उल्टी भी हो जाती है लेकिन इसमें घबराने की कोई बात नहीं है यह सब साधारण साइड इफेक्ट है और यह ज्यादा खतरनाक नहीं है

शरीर से दुर्गंध आना बार-बार पसीना आना – दवा की ओवरडोज के कारण कभी-कभी शरीर से काफी मात्रा में पसीना निकलता है और उसमें दुर्गंध भी आती है यह तब होता है जब हम इस दवाई को ओवर डोज ले लेते हैं जिस कारण हमारे शरीर से तेजी से पसीना बदबू छोड़ते हुए निकलता है

डायबटीज की समस्या – साइपन सिरप का प्रयोग करने से डायबटीज की समस्या भी हो सकती है इसमे सार्बिटोल नाम का तत्व होता है जोकि एक चीनी एल्कोहल होता है। और इसका अधिक इस्तेमाल हमारे शरीर मे इन्सुलिन की कमी कर देता है जोकि भविष्य मे खतरनाक रुप ले सकता है।इस सीरप पुरी तरीके से सेफ है और यह समस्या ना करे बराबर होती है इस सीरप से

सूस्ती और चक्कर आना – साइपन सिरप का प्रयोग हमारे खान पान मे साथ करने से कभी कभी सुस्ती और चक्कर आना जैसी साईडइफेक्ट दे सकते जोकि हमेशा नही रहेते है और दवा की कोर्स पुरा के होने के साथ यह भी खत्म हो जाते है।

Azithromycin 500 uses in hindi, इस्तेमाल करने का तरीका, साइड इफेक्ट, लेते समय सावधानी, प्राइस

साइपन सिरप इस्तेमाल से पहले सावधानी

  • साइपन सिरप का प्रयोग डाक्टरी सलाह से करें
  • गर्भवती या स्तनपान करनं वाली स्त्रीया इसके प्रयोग से बचे।
  • साइपन के सिरप को प्रयोग करते समय ऐल्कोहल का सेवन ना करे।
  • इस्तेमाल के बाद जी मचलाने और उल्टी जैसी समस्या होने पर तुरन्त डाक्टरी सलाह ले
  • अगर पहले किडनी,लिवर से जुडी विकट समस्या हुई है जो डाक्टरी सलाह ले ।
  • खुराक छुट जाने पर इसके अधिक मात्रा मे सेवन ना करें

साइपन सीरप का ईस्तमाल ना करे

1.साइपन सीरप का प्रयोग अल्सर के मरीज को नही करना चाहिए
2.इस सीरप का प्रयोग टाईप 2 टाईप के सुगर मरीजो को इसका प्रयोग नही करना चाहिए
3. मदिरापान और नियमित ध्रुमपान करने वाले लोगो को इसको इस्तेमाल नही करना चाहिए
4. हदय और किडनी सम्बन्धित रोगियो को इसका इस्तेमाल नही करना चाहिए

साइपन सीरप की खुराक छुट जाने पर क्या करें

साइपन सीरप की छुटी खुराक होने पर उसका हैवी डोज ना ले बाद की खुराक मे छुटने पर कोई भी दुस्प्रभाव नही होगे अगर आप नियमित सेवन करते है इसका

FAQ

शिफॉन सिरप के बारे में बताइए

शिफॉन सिरप एक प्रकार का दवाई है जिसका प्रयोग भूख ना लगने, फैटी लीवर अल्सर और आंतों में होने वाली समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है यह हमारे शरीर की भूख बढ़ाने और मेटाबॉलिज्म को फास्ट करने में मदद करता है

शिफॉन सिरप के फायदे बताइए

शिफॉन सिरप के बहुत सारे फायदे हैं शिफॉन सिरप का इस्तेमाल करने से हमारी भूख बढ़ती है और हमारा मेटाबॉलिजम तेज करता है जिसे हमारे शरीर में खाना बहुत तेजी से लगता है

क्या मैं अपने बच्चे को साइपन ड्रॉप्स दे सकती हूं

साइपों सिरप का इस्तेमाल आप बच्चों के लिए भी कर सकते हैं लेकिन ध्यान रहे बच्चों को इस दवा की खुराक 5 ml din में दो बार दें,

आखरी शब्द

हेलो दोस्तों इस आर्टिकल में हमने Cypon syrup Uses in hindi के बारे में जानकारी दी है हमें पूरा यकीन है आपको जानकारी पसंद आई होगी हमारे लिए कोई भी सवाल, या किसी प्रकार की जानकारी साझा करना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके जरूर बताएं आपको हर एक कमेंट हमारे लिए बहुत उपयोगी है

Rate this post
Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: