Giloy juice – गिलोय जूस के 6 फायदे, सावधानी,नुकसान

Giloy Juice – आयुर्वेद में कई प्रकार की औषधि our फल है जो हमारे शरीर के लिए बेहद लाभदायक है इन्हीं में से एक औषधि गिलोय भी है जो कि वे स्वस्थवार्धक और हमारे शरीर के लिए बेहद लाभदायक पौधों में से एक है इसका नियमित इस्तेमाल हमारे शरीर में कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने हमारी पाचन शक्ति को सुधारने एवं शरीर में विकारों एवं कमजोरियों को दूर करने में बेहद कारगर है,

Giloy juice का नियमित सेवन हमारे शरीर को लंबे समय तक स्वस्थ एवं निरोगी रखने में मदद करता है और यह बाजार में आसानी से मिलने वाला सस्ता एवं बेहद असरदार औषधियों में से एक है आज इस आर्टिकल में हम गिलोय जूस के फायदे, उसको लेने की विधि एवं नुकसान के बारे में जानेंगे

giloy क्या है

Giloy एक प्रकार का जंगली पदाप है , जो की पहाड़ी और वर्षा वनो, घास फूस वाली जगहों पर ज्यादा पाया जाता है यह पान के पत्तों की तरीके का होता है और इसमें लाल रंग के फल आते हैं इसको हम Giloy के अलावा अमृता, चिनृहा जैसे नामों से जानते हैं इसका वैज्ञानिक नाम की तिनोस्फोरा कोडी फोबिया है

गिलोय जूस के फायदे ( benefits of giloy juice)

Giloy

Giloy juice का एक नाम अमृता भी है जो कि इसके गुणकारी स्वभाव एवं इसके अंदर मौजूद आर्यन मैग्नीशियम और कैल्शियम की भरपूर मात्रा की मौजूदगी के कारण इसका यह नाम रखा गया है वैसे तो गिलोय के बहुत सारे फायदे हैं आइए नजर डालते हैं कुछ चुनिंदा फायदों के बारे में –

पेट की समस्याओं में – अजय दीखते लेगी और मसालेदार चीजों का सेवन हमारे पाचन को बुरा असर डालते हैं कैसे हमें गैस अपच खट्टी डकार जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है इसमें Giloy juice एक वरदान के रूप में साबित होता है इसकी सही मात्रा में इस्तेमाल पेट में हुए सभी प्रकार की दिक्कतों को दूर करता है इसमें मौजूद विटामिन से हमारे पाचन को मजबूत बनाने में मदद करता है

खुराक का सेवन – एक गिलास गर्म पानी में ढक्कन गिलोय का जूस मिलाकर खाली पेट पीने से यह आपके पाचन को बेहद आराम पहुंचाता है पानी में इसकी मात्रा 250 मिली पानी में लगभग 20 ग्राम गिलोय को मिलाकर सेवन करें

डेंगू की बीमारी से लड़ने में – यह बीमारी बरसात के मौसम में पहनने वाली बीमारियों में से एक है जिसके कारण खून में मौजूद प्लेटलेट्स तेजी से गिरने लगती हैं और सही समय पर उपचार न करने पर मरीज की जान जाने पर भी खतरा मंडराने लगता है

इसमें Giloy juice कारगर साबित होता है कि आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है तथा इसे मौजूद एंटीपायरेटिक गुड बुखार को जल्दी सही करने मे पल्टेलेट्स को तेजी से बढ़ाने में भी मदद करता है लेकिन गिलोय का इस्तेमाल डॉक्टरी देखरेख में करें

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में – गलत जीवनशैली और खानपान हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर बेहद बुरा असर पड़ता है जिसके कारण हमें आसानी से कोई भी बीमारी हो जाती है, इसे खराब है बुखार खांसी जैसे बीमारी बहुत आसानी से हो जाती है गिलोय जूस का नियमित सेवन हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है इसमें मौजूद विटामिन सी और कैल्शियम हमारे शरीर की इम्यूनिट सिस्टम को boost करते हैं, इसका इस्तेमाल हमारे शरीर में विभिन्न बीमारियों से बचाने में भी बेहद मदद करता है

लीवर की समस्या में – कमजोर पाचन और अत्यधिक दवाओं का सेवन हमारे लीवर कमजोर बनाता है लिवर की कमजोरी के कारण हमें भूख न लगना, कमजोरी और उल्टी जैसी समस्याएं होती हैं, जिसमें गिलोय गुणकारी औषधि के रूप में कार्य करता है और यह हमारे शरीर के पाचन को मजबूत बनाता है एवं इसके नियमित इस्तेमाल से हमारे शरीर का लीवर मजबूत होता है और पाचन को सही रहता है

खांसी में – खांसी और गले से खराश हमें अक्सर मौसम के बदलाव के कारण देखने को मिलता है जो कि गंभीर परिणाम दे सकती है इसमें गिलोय बेहद ही लाभदायक रूप से काम करता है गिलोय में मौजूद एंटी एलर्जिक गुड हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है जिससे हम को खांसी बुखार जैसी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है

Buy – गिलोय जूस

गिलोय जूस के सेवन का तरीका

गिलोय का प्रयोग वैसे तो बेहद लाभदायक है लेकिन इसकी सही मात्रा में उपयोग करने से ही हमारे शरीर को लाभ पहुंचाता है गिलोय का सेवन सुबह खाली पेट करने से ज्यादा अच्छे परिणाम मिलते हैं गिलोय जूस को आप 250 मिली लीटर पानी में 20 ग्राम लगभग एक ढक्कन गिलोय को अच्छी तरह मिलाकर उसका सेवन करें और याद रहे कि पूरे दिन में सिर्फ एक बार इसका सेवन करना है

Read More – सिर दर्द के घरेलू उपाय | सिर दर्द ठीक करने के 5+ रामबाण घरेलू उपाय

Read More – Patanjali Amla juice के फायदे | Patanjali aamla juice के साइड इफेक्ट, प्राइस | पतंजलि आमला जूस कैसे पिए ?

गिलोय जूस पीने से नुकसान, पीते समय सावधानी

  1. लो ब्लड प्रेशर के मरीज इसका सेवन ना करें
  2. गर्भवती महिलाओं को भी उसका सेवन नहीं करना चाहिए
  3. दिल के रोग से बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति को भी उसका सेवन डॉक्टरी की देखरेख में करना चाहिए
  4. गिलोय का इस्तेमाल एक बार से ज्यादा करने से मुझे पेट खराब करने जैसी समस्याओं को जन्म देता है
  5. गिलोय से लंबे समय तक सेवन आपको लीवर की बीमारियों से ग्रसित कर सकता है

QNA

गिलोय जूस कब पीना चाहिए?

लीवर, पेट मैं समस्या होने पर गिलोय का सेवन करना चाहिए इसके अलावा गिलोय आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है जिससे आप बीमारियों की चपेट में आसानी से नहीं आते

गिलोय किसे नहीं खाना चाहिए?

गिलोय का सेवन लो ब्लड प्रेशर वाले मरीजों को नहीं करना चाहिए इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए जो कि उनकी सेहत के लिए बेहद शर्मनाक है

गिलोय का जूस पीने से क्या फायदा है ?

गिलोय जूस का सेवन हमारे शरीर के लिए विभिन्न प्रकार से बेहद लाभदायक है, यह हमारे शरीर के पाचन तंत्र को ठीक करता है हमारे लिवर को मजबूत बनाता है, इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट हमें बीमारी से जल्दी उबारने और ठीक करने में मदद करता है

गिलोय कौन-कौन सी बीमारियों को ठीक करता है?

गिलोय हमको डेंगू, पेट दर्द लिवर में इन्फेक्शन, पेट खराब हो ना, कॉरोना वायरस जैसी बीमारियों से लड़ने में बेहद कारगर साबित होता है

गिलोय का रस कैसे किया जाता है?

गिलोय का सेवन सुबह खाली पेट करने से ज्यादा अच्छे परिणाम मिलते हैं गिलोय जूस को आप 250 मिली लीटर पानी में 20 ग्राम लगभग एक ढक्कन गिलोय को अच्छी तरह मिलाकर उसका सेवन करें और याद रहे कि पूरे दिन में सिर्फ एक बार इसका सेवन करना हैगिलोय का सेवन सुबह खाली पेट करने से ज्यादा अच्छे परिणाम मिलते हैं गिलोय जूस को आप 250 मिली लीटर पानी में 20 ग्राम लगभग एक ढक्कन गिलोय को अच्छी तरह मिलाकर उसका सेवन करें और याद रहे कि पूरे दिन में सिर्फ एक बार इसका सेवन करना है

ये भी पढ़े

अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए – क्यों पुरुषों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है अश्वगंधा

यौन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय |

Related Posts

2 thoughts on “Giloy juice – गिलोय जूस के 6 फायदे, सावधानी,नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: